जय किसान ऋण मुक्ति योजना मध्य प्रदेश – किसान ऋण मुक्ति योजना आवेदन पत्र

जय किसान ऋण मुक्ति योजना मध्य प्रदेश,मुख्यमंत्री क़र्ज़ माफ़ी योजना,किसान ऋण मुक्ति योजना,क़र्ज़ माफ़ी योजना 2019

जय किसान ऋणमुक्ति योजना मध्य प्रदेश

हाल ही में, मध्य प्रदेश सरकार ने निम्न वर्ग के किसानों के लिए आधिकारिक रूप से किसान ऋण माफी योजना की घोषणा की है। राज्य सरकार ने मध्य प्रदेश किसान क़र्ज़ माफी योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। इसके अलावा, मध्य प्रदेश सरकार ने इस सरकारी योजना का नाम भी, मुख्मंत्री फसल ऋण माफी योजना ’से बदलकर जय किसान ऋण मुक्ति योजना’ कर दिया है। इस ऋण माफी योजना के तहत, राज्य सरकार लगभग कुल 55 लाख किसानों को ऋण माफी का लाभ प्रदान करेगी।

जय किसान ऋणमुक्ति योजना मध्य प्रदेश

इस ऋण माफी योजनाकी आधिकारिक घोषणा भोपाल में आयोजित एक समारोह के दौरान मध्य प्रदेश के माननीयमुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा की गई थी। इस कार्यक्रम के दौरान, मुख्यमंत्रीने इस ऋण माफी योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया भी शुरू की। इस कृषि ऋण माफीयोजना के तहत ऋण अदायगी की प्रक्रिया 22 फरवरी को आधिकारिक रूप से शुरू की जाएगी।इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि राज्य के सभी किसान ऋण के बोझसे मुक्त हो सकें और उन्हें खेती की ओर प्रोत्साहित किया जा सके।

जय किसान ऋणमुक्ति योजना के तहत ऋण माफी का लाभ कैसे प्राप्त करें

राज्य सरकार नेइस योजना के तहत भरे जाने के लिए 80 लाख ऋण माफी (जय किसान रिन मुक्ति योजना मध्यप्रदेश) आवेदन पत्र छपवाए हैं, और राज्य सरकार ने हर क्षेत्र के जिलापंचायत सीईओ को आवेदन पत्र भरने की जिम्मेदारी दी है। इसके अलावा, राज्यसरकार 22 फरवरी से योजना के तहत ऋण चुकौती की प्रक्रिया शुरू करेगी।

जय किसान ऋणमुक्ति योजना आवेदन पत्र

ग्रीन फॉर्म – यह ग्रीन फॉर्म केवल उस किसान द्वाराभरा जा सकता है जिसने अपनी कृषि के लिए ऋण लिया है और उसका आधार कार्ड उसके बैंकखाते से जुड़ा हुआ है।

पिंक फॉर्म – यह आवेदन केवल उस किसान द्वारा भरा जासकता है जो इस सरकारी योजना से संबंधित कोई भी शिकायत करना चाहता है।

व्हाइट फॉर्म – यह आवेदन फॉर्म केवल राज्य के किसानद्वारा भरा जा सकता है, जिसने कृषि प्रयोजन के लिए ऋण लिया है, लेकिनउसका आधार उसके बैंक खाते से लिंक नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *