छत्तीसगढ़ यूनिवर्सल हेल्थकेयर स्कीम – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना

छत्तीसगढ़ सरकार जल्द ही Universal Health Care Scheme Chhattisgarh 2019 यूनिवर्सल हेल्थकेयर स्कीम (UHS) 2019 शुरू करेगी। यह UHS स्कीम मोदी सरकार की फ्लैगशिप स्कीम की जगह लेगी। आधिकारिक बयान के अनुसार, स्वास्थ्य सेवाओं पर नागरिकों का अधिकार होना चाहिए जैसे सूचना का अधिकार, कार्य का अधिकार, भोजन का अधिकार, इसलिए यूएचएस को छत्तीसगढ़ में लागू करने की आवश्यकता है।

नव निर्वाचित सरकार छत्तीसगढ़ राज्य में छत्तीसगढ़ यूनिवर्सल हेल्थकेयर योजना शुरू करने का पूर्व-सर्वेक्षण का वादा किया है। अब राज्य सरकार ने कहा कि नागरिकों के लिए PMJAY योजना को बदलने के लिए UHS स्कीम शुरु किया जा रहा है। यह कदम राज्य को सार्वभौमिक स्वास्थ्य सेवा योजना को लागू करने वाला देश का पहला राज्य बना देगा।

टीएस सिंह देव नेकहा कि छत्तीसगढ़ की नई सार्वभौमिक स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत – पीएम जनआरोग्य योजना से बेहतर है।

यूनिवर्सल हेल्थकेयर स्कीम छत्तीसगढ़ (UHS) 2019 – Universal Health Care Scheme Chhattisgarh 2019

छत्तीसगढ़ राज्य सरकार यूनिवर्सल हेल्थकेयर स्कीम छत्तीसगढ़ (UHS) 2019 शुरू करने जा रही है। यह योजना आवश्यक है क्योंकि आयुष्मान भारत योजना (PMJAY) एक बीमा आधारित मॉडल है। PMJAY योजना में, करदाताओं का पैसा बीमा कंपनियों को दिया जाता है। कार्यान्वयन के बीमा कंपनी आधारित मॉडल में, कुछ अनियमितताएं हैं। राज्य सरकार यूएचएस योजना के माध्यम से लोगों को उनके बुनियादी ढांचे के आधार पर गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा प्रदान करेगी।

टीएस सिंह देव नेआरोप लगाया है कि केवल 50,000 रुपये के बजाय आयुष्मान भारत योजना में 5 लाख का कवरकिया गया है। आयुष्मान भारत योजना में,नागरिकों के ओपीडी उपचारको कवर नहीं किया गया है और लाभ उठाने के लिए,लोगों को बीमा कवर केलिए अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता है। तदनुसार, लगभग70% नागरिक इस आयुष्मान भारत योजना में शामिल नहीं हैं।

छत्तीसगढ़ में, यूएचएसयोजना में केवल 50,000 रूपये की सीमा से ऊपर का खर्च राज्य सरकार द्वाराप्रदान किया जाता है। निविदा में,1100 रुपये की प्रीमियम राशि थी जिसमें से660 का भुगतान केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है। जबकि शेष लागत राज्य सरकारद्वारा वहन की जाती है। मौजूदा बुनियादी ढांचे के साथ यूएचएस योजना को लागू कियाजा सकता है।

यूनिवर्सलहेल्थकेयर योजना के तहत नागरिकों को गुणवत्तापूर्ण उपचार प्रदान करने के लिए अधिकबुनियादी ढाँचे की आवश्यकता नहीं है। राज्य सरकार वर्तमान में 170 सामुदायिकस्वास्थ्य केंद्रों के साथ बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान कर सकती है। इसकेअलावा स्वास्थ्य सेवाओं की आवश्यकता बढ़ने पर राज्य सरकार आवश्यकता के साथ इसेबढ़ा सकती है। प्रत्येक गांव को स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा कवर किया जा रहा है औरआगे सहायता प्रदान करने का आश्वासन दिया जा रहा है।

पीएम नरेंद्रमोदी ने 14 अप्रैल 2018 को छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में PMJAY योजनाके तहत पहले स्वास्थ्य देखभाल केंद्र का उद्घाटन किया है। PMJAY योजनाका लक्ष्य लगभग 50 करोड़ गरीब लोगों को मुफ्त माध्यमिक और तृतीयक देखभाल अस्पतालप्रदान करना है। PMJAY लाभार्थियों में ग्रामीण परिवारों सहितगरीब और कमजोर परिवार शामिल हैं और शहरी श्रमिक परिवारों की व्यावसायिक श्रेणियोंकी पहचान की गई है। आयुष्मान भारत योजना का उद्देश्य सार्वजनिक और बिगड़े निजी अस्पतालोंमें माध्यमिक और तृतीयक स्वास्थ्य सेवा के लिए प्रति परिवार 5 लाख का वार्षिककवरेज प्रदान करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *