उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री जन आरोग्‍य योजना

UP Mukhyamantri Jan Arogya Yojana Online Registration Application Form Last Date उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना ऑनलाइन – उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्‍यमंत्री जन आरोग्‍य योजना 2019 शुरू की है जो कि अपने नागरिकों के लिए एक नई स्वास्थ्य योजना है। यह उप-योजना केंद्र सरकार की मेगा स्वास्थ्य योजना का एक भाग है, जिसका नाम प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना  है।  उत्तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री जन आरोग्‍य योजना उन गरीब परिवारों को मुफ्त चिकित्सा सुविधा प्रदान करने जा रही है, जो मेडिकेयर के नाम से प्रसिद्ध आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत नहीं आते हैं।

UP Mukhyamantri Jan Arogya Yojana

उत्तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री जन आरोग्‍य योजना से लगभग दस लाख परिवारों या 5.6 मिलियन लाभार्थियों को लाभ होने जा रहा है जो आयुष्मान भारत – राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (NHPS) से वंचित हैं। योगी आदित्यनाथ ने यूपी सरकार का नेतृत्व करते हुए वार्षिक बजट 2019-20 में मुख्‍यमंत्री जन आरोग्‍य योजना के लिए 111 करोड़ रुपये का आवंटन किया है।

इस उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत, राज्य सरकार लाभार्थियों को प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का मुफ्त मेडिकल कवर प्रदान करेगा।

आधार कार्ड ऑनलाइन डाउनलोड | mAadhaar मोबाइल एप डाउनलोड- uidai.gov.in

उत्तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री जन आरोग्‍य योजना 2019

लगभग 50 करोड़ की पैन इंडिया लाभार्थी गणना के तहत, उत्तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री जन आरोग्‍य योजना में लगभग 1.18 करोड़ गरीब परिवारों (6 करोड़ लोगों) को शामिल किया गया है। अब लगभग 56 लाख से अधिक लोगों को सरकार में 5 लाख / सरकार अनुदानित / निजी अस्पताल आयुष्मान भारत योजना के साथ, राज्य सरकार अब उत्तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री जन आरोग्‍य योजना के माध्यम से 6.56 करोड़ लोगों को कवर किया जाएगा।

यूपी राज्य के बजट में, राज्य सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के लिए 1,298 करोड़ रुपये भी आवंटित किए हैं। इसके अलावा, राज्य सरकार ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के लिए 291 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। इसके अतिरिक्त, सरकार ने पूरे राज्य में 100 बिस्तरों वाले अस्पतालों की स्थापना के लिए 47.50 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।

UP Mukhyamantri Jan Arogya Yojana

योगी आदित्यनाथ के पास देश की आबादी का पांचवां हिस्सा है और यूपी हेल्थकेयर इंडेक्स में किसी भी सुधार का भारत पर सकारात्मक प्रभाव पड़ने वाला है। राज्य सरकार पर्याप्त चिकित्सा और स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए दूरदराज के क्षेत्रों तक पहुंचने के लिए टेलीमेडिसिन जैसी आधुनिक तकनीक के उपयोग पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

अब तक, उत्तर प्रदेश के लगभग 53 जिलों को राष्ट्रीय मोबाइल चिकित्सा इकाई कार्यक्रम के तहत लाभान्वित किया गया था। इसके अलावा, राज्य सरकार राज्य में 2,150 की कुल संख्या के साथ 750 वेलनेस या आरोग्य केंद्र शुरू किए हैं। 2014 से पहले केवल 13 मेडिकल कॉलेज थे लेकिन उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने पिछले 4 से 5 वर्षों के दौरान, 15 नए मेडिकल कॉलेज बनाये हैं । इसमें एक कैंसर संस्थान, 2 एम्स और एम्स समतुल्य सुविधा मेडिकल कॉलेज शामिल है।

योगी आदित्यनाथ ने समाज के गरीब और अन्य वंचित वर्गों को उचित स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए दवाओं और अन्य चिकित्सा उपकरणों की खरीद पर बचत लागत पर भी जोर दिया। आधिकारिक अधिसूचना नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से उपलब्ध है।

You may also read
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *